मनरेगा योजना क्या है और इसका उद्देश्य क्या है? । Mgnrega Yojana kya hai ?

मनरेगा योजना (MGNREGA Scheme) का पूरा नाम (Full Name) महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम है। यहाँ योजना 7 सितंबर 2005 को विधान द्वारा अधिनियमित किया गया। जो भारत में लागू एक रोजगार गारंटी योजना है।

मनरेगा योजना की शुरुआत 2 फ़रवरी 2006 मे आंध्र प्रदेश के बांदावली जिले के अनंतपुर नामक गाँव से हुई थी तब यह योजना 200 जिलों में शुरू की गई, बादमे जिसे 2007-2008 में अन्य 130 जिलों में विस्तारित किया गया और 1 अप्रैल 2008 तक पुरे भारत के सभी 593 जिलों में इसे लागू कर दिया गया।

शुरुआत में इसे राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (नरेगा NREGA) कहा जाता था, लेकिन 2 अक्टूबर 2009 इसका नाम बदलकर महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम कर दिया गया।

यह योजना प्रत्येक वित्तीय वर्ष में किसी भी ग्रामीण परिवार के उन वयस्क सदस्यों को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराती है जो प्रतिदिन 220 रुपये की सांविधिक न्यूनतम मजदूरी पर सार्वजनिक कार्य-सम्बंधित अकुशल मजदूरी करने के लिए तैयार हैं।

मनरेगा योजना का उद्देश्य क्या है। What is the purpose of MNREGA scheme ?

  • मनरेगा जिसे नरेगा के नाम से भी जाना जाता है यहाँ योजना गरीब लोगो को रोजीरोटी प्रदान करने के हेतु से लागु किया गया है।
  • मनरेगा योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की ग्रामीण लोगों की क्रय शक्ति को बढ़ावा मिले और यह लोग बेरोजगार न रहे और अपना रोजगार पा सके।
  • विकास कार्य के साथ साथ आर्थिक मजबूती प्रदान करना।
  • गरीब परिवारों आजीविका को मजबूत करना और उनकी आय में वृद्धि करना।
  • मनरेगा योजना का उद्देश्य ग्रामीण भारत में निवास करने वाले गरीब व कमजोर आय वर्ग के परिवारों को 100 दिनों की रोजगारी प्रदान करना है ताकि वे अपनी आजीविका चला सकें।
  • भारत में पंचायती राज प्रतिष्ठानों को और मजबूत करना।
  • इस योजना का उद्देश्य समाज के कमजोर वर्ग को भी मुख्य धारा में सम्मिलित करना है।
  • इस योजना के तहत ग्राम पंचायत स्तर पर रोजगार प्रदान करना जिससे रोजगार हेतु अन्य शहरों में होने वाले पलायन को रोका जा सकें।

नरेगा योजना किसने लगाई। Who introduced the NREGA scheme?

इस अधिनियम को वाम दल-समर्थित संप्रग सरकार द्वारा लाया गया था। कई लोगों का मानना है कि इस परियोजना का वादा भारतीय आम चुनाव, २००९ में यूपीए के पुनर्विजयी होने के प्रमुख कारणों में से एक था।

अर्थशास्त्री ज्यां द्रेज जो बेल्जियम में जन्मे और दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स में अर्थशास्त्री के रूप मे कार्यरत् रहे थे जिन्हो ने इस परियोजना मे एक मुख्य भूमिका निभाई थी।

मनरेगा का पूरा नाम क्या है ?। What is the full name of MGNREGA?

मनरेगा का पूरा नाम महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम है। MGNREGA Full Form In English MGNREGA – Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act.

मनरेगा योजना के अंतर्गत मिलने वाली योजनाओं के लाभ :-

  • आवास सहायता स्कीम
  • शौचालय सहायता योजना
  • आवासीय विद्यालय स्कीम
  • मेधावी छात्र पुरस्कार स्कीम
  • विकलांगता सहायता योजना
  • चिकित्सा सुविधा स्कीमरें
  • अक्षमता पेंशन स्कीम
  • कन्या विवाह सहायता स्कीम
  • सौर ऊर्जा सहायता स्कीम
  • महात्मा गांधी पेंशन सहायता योजना
  • मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद स्कीम
  • निर्माण कामगार अंत्येष्टि सहायता स्कीम
  • कामगार गंभीर बीमारी सहायता योजना
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना
  • कौशल विकास तकनीकी प्रमाणन और उन्नयन योजना

मनरेगा से क्या फायदा हुआ है। What are the benefits of MNREGA

  • मनरेगा योजना लागू करने के बाद देश में ग्रामीण बेरोजगारी कम होइ है। 2008-09 के दौरान 4,49,40,870 ग्रामीण परिवारों को मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध कराया गया थे। जहां प्रत्येक परिवार में 48 कार्य दिवस का राष्ट्रीय औसत था।
  • मनरेगा ग्रामीण विकास और रोजगार के दोहरे लक्ष्य को प्राप्त करता है।
  • यह योजना लागू करने से पुरे भारत में आजतक करोडो ग्रामीण बेरोजगारों को रोजगार प्राप्त हुआ है। और कई सारे लोगो को काम मिला है।
  • इसने ग्रामीण क्षेत्रों में कई महिलाओं को आजीविका कमाने के साथ-साथ सामाजिक सुरक्षा हासिल करने में मदद की है।
  • 18-30 की आयु वर्ग के बेरोजगार युवाओं को वर्ष में 100 दिन रोजगार मिला।
  • इस योजना ने डिमोनेटाइजेशन और GST (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) से प्रभावित लोगों को रोजगार देने में मदद की।
  • इसने अनुसूचित जातियों (SCs) और अनुसूचित जनजातियों (STs) के उत्थान में मदद की है।

मनरेगा योजना के लाभ। Benefits of MNREGA Scheme

आगर आप ग्रामीण क्षेत्रों से हैं हैं तो यह आपको प्रति दिन 220 रुपये के वैधानिक न्यूनतम वेतन पर 100 दिनों का रोजगार प्रदान करता है। मनरेगा के अंतर्गत कई अनेक प्रकर के कार्य होते सार्वजनिक हैं जैसे : भूमि विकासकुंआ और तालाब खुदाई वृक्षारोपण बंजर भूमि का विकास पारंपरिक जल निकायों का नवीनीकरण नहर बांध और तटीय बेल्ट निर्माण सिंचाई टैंकों और अन्य जल निकायों का नवीनीकरण कुक्कुट आश्रय, बकरी आश्रय निर्माण मवेशियों के लिए चारा कुंड निर्माण जिससे मत्स्य पालन , खेती , बागवानी, भूजल रिचार्जिंग आदि क्षेत्र को बढ़ावा मिला है।

मनरेगा योजना की आलोचनाएं। Criticisms of MNREGA Scheme

  • इस योजना की काफी आलोचना भी हुई है और तर्क दिया गया कि यह योजना भी गरीबी उन्मूलन की अन्य योजनाओं से अधिक प्रभावी नहीं है, जहां प्रमुख अपवाद राजस्थान है[
  • मनरेगा योजना की पहली आलोचना वित्तीय है। जिसमे मनरेगा दुनिया में अपनी तरह की सबसे बड़ी पहलों में से एक है।
  • वित्तीय वर्ष 2006-2007 के लिए राष्ट्रीय बजट 113 बीलियन रुपए था। और बाद में यह बढ़कर पूरी तरह चालू होकर इसकी लागत 2009-2010 वित्तीय वर्ष में 391 बीलियन रुपये हो गई थी।
  • ज्यां द्रेज व अन्य लोगों का सुझाव था कि इसका वित्त पोषण उन्नत कर प्रशासन और सुधारों के माध्यम से किया जा सकता है, जबकि अभी तक कर-जीडीपी अनुपात वास्तव में गिरता जा रहा है। ऐसी आशंका थी कि इस योजना की लागत जीडीपी का 5% हो जायेगी।
  • आगे की चिंताओं में यह तथ्य शामिल है कि स्थानीय सरकार के भ्रष्टाचार के कारण समाज के कुछ ख़ास वर्गों को बाहर रखा जाता है।
  • ऐसा भी पाया गया कि स्थानीय सरकारों ने काम में लगे व्यक्तियों की वास्तविक संख्या से अधिक नौकरी कार्डों का दावा किया ताकि आवश्यकता से अधिक फंड को हासिल किया जा सके, जिसे फिर स्थानीय अधिकारियों द्वारा गबन कर लिया जाता है।
  • जॉब कार्ड प्राप्त करने के लिए 50 रुपये तक की रिश्वत दी जाती है।

मनरेगा के तहत होने वाले कार्य ? Works to be done under MNREGA?

  1. साझा भूमि में भूमि विकास कार्य।
  2. सूक्ष्म और लघु सिंचाई कार्य और सिंचाई नहरों और नालों का निर्माण, नवीनीकरण और रखरखाव।
  3. जलविभाजन प्रबंधन कार्य जैसे समोच्च खाइयां, सीढ़ीदार, समोच्च बांध, गेबियन संरचनाएं, और वसंत शेड विकास।
  4. भूजल रिचार्जिंग तथा पेयजल स्रोतों पर विशेष ध्यान देने के साथ भूमिगत बांध, मिट्टी के बांध, स्टॉप बांध तथा: चेक बांध जैसे भूजल को बढ़ाने और सुधारने के लिए जल संचयन संरचनाएं बनबाना।
  5. सिंचाई टैंकों और अन्य जल निकायों की गाद निकालने सहित पारंपरिक जल निकायों का नवीनीकरण।
  6. आम और वन भूमि में वनरोपण, वृक्षारोपण और बागवानी, सड़क मार्जिन, नहर बांध, टैंक फोरशोर और तटीय बेल्ट पैरा 5 में शामिल परिवारों को विधिवत उपयोग करने का अधिकार प्रदान करते हैं।

मनरेगा (Mgnrega) में कौन कौन सी योजनाएं शामिल हैं ?। Which schemes are included in MGNREGA?

मनरेगा में भारत सरकार की कई सारी योजनाएं शामिल है जैसे की :-

  1. प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana)
  2. दीन दयाल अंत्योदय योजना (Deen Dayal Upadhyaya Antyodaya Yojana)
  3. प्रधानमंत्री का ग्रामीण विकास (Ministry of Rural Development)
  4. मिशन अंत्योदय राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम
  5. फैलोशिप प्रधानमंत्री आवास योजना (Prime Minister Research Fellowship (PMRF) Scheme)
  6. (ग्रामीण) सांसद आदर्श ग्राम योजना (Sansad Adarsh Gram Yojana)
  7. राष्ट्रीय रूर्बन मिशन (NRuM)

मनरेगा हेल्पलाइन नंबर । MNREGA Helpline Number

तो दोस्तों इस हेल्पलाइन नंबर से आप मनरेगा योजना और इसका उद्देश्य के सबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

  • Toll Free Number : 1800111555 / 1800-180-6127
  • Official Website : nrega.nic.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.