मनरेगा के कार्यों की सूची 2022 । MGNREGA Work List

नरेगा जॉब कार्ड धारकों को प्रतिवर्ष 100 दिनों की रोजगार मिलता है। इसके लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय पात्र एवं अकुशल कार्य करने के इच्छुक परिवारों को जॉब कार्ड जारी करती है। इस कार्ड में किये कार्य एवं हाजिरी की जानकारी दर्ज किया जाता है। लेकिन अधिकांश जॉब कार्ड धारकों को नहीं पता होता कि मनरेगा अंतर्गत कौन कौन से कार्य आते हैं ? लेकिन ये जानकारी सभी जॉब कार्ड धारियों के लिए बहुत उपयोगी है, क्योंकि मनरेगा के कार्यों की सूची / MGNREGA Work List में काम के लिए आवेदन करने हेतु ये जानना आवश्यक है।

महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MGNREGA) के तहत बहुत से विकास कार्य किये जाते है। ये कार्य लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान तो करती ही है, साथ ही आजीविका हेतु महत्वपूर्ण कार्य जो लोगों के ही काम आये, ऐसे कार्य शामिल किये जाते है। नीचे लिस्ट में मनरेगा के कार्य के बारे में बताया है। इन सभी कार्यों में जॉब कार्ड धारकों की भागीदारी होती है।

मनरेगा के कार्यों की सूची। मनरेगा के तहत होने वाले कार्य । MGNREGA Work List

इस योजना के अंतर्गत विभिन्न कार्य कराये जाते है, जिसमे से प्रमुख कार्य इस प्रकार से है |

  • जल संरक्षण कार्य
  • गौशाला निर्माण कार्य
  • बागवानी कार्य
  • आवास निर्माण कार्य
  • वृक्षारोपण कार्य
  • लघु सिंचाई कार्य
  • चकबंध कार्य
  • भूमि विकास कार्य
  • बाढ़ नियंत्रण कार्य
  • भूमि विकास
  • ग्रामीण सम्पर्क मार्ग निर्माण कार्य
  • सूखे की रोकथाम के अंतर्गत वृक्षारोपण

Read also :

मनरेगा में काम कैसे होता है ?

ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत पात्र एवं इच्छुक परिवारों को जॉब कार्ड प्रदान किया जाता है। मनरेगा में 100 दिनों की रोजगार की गारंटी प्रदान करती है। ये कार्य उन्हें 5 किलोमीटर के दायरे में दिया जाता है।

सभी जॉब कार्ड धारक मनरेगा के तहत होने वाले कार्य में काम करने हेतु आवेदन कर कर सकते है। इस कार्य के लिए उन्हें निर्धारित प्रतिदिन मजदूरी दिया है जो सीधे उनके खाते में जमा हो जाती है।

मनरेगा में कितने घंटे काम करना होता है?

जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं कलेक्टर बीएल कोठारी ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा योजनांतर्गत गर्मी के मौसम को देखते हुए श्रमिकों के लिए कार्य का समय सवेरे 6.30 बजे से दोपहर 2 बजे तक विश्रामकाल को सम्मिलित करते हुए निर्धारित किया गया हैं। इस अवधि के दौरान सवेरे 10.30 बजे से प्रात: 11 बजे तक भोजन-विश्राम का समय रहेगा।

मनरेगा में कितने घंटे काम करना होता है?

जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं कलेक्टर बीएल कोठारी ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा योजनांतर्गत गर्मी के मौसम को देखते हुए श्रमिकों के लिए कार्य का समय सवेरे 6.30 बजे से दोपहर 2 बजे तक विश्रामकाल को सम्मिलित करते हुए निर्धारित किया गया हैं। इस अवधि के दौरान सवेरे 10.30 बजे से प्रात: 11 बजे तक भोजन-विश्राम का समय रहेगा।

मनरेगा में कितना काम करना पड़ता है?

मनरेगा में 100 दिनों की रोजगार की गारंटी प्रदान करती है। ये कार्य उन्हें 5 किलोमीटर के दायरे में दिया जाता है।

मनरेगा का हेल्पलाइन नंबर क्या है?

1800 111 555

NREGA Official Website

nrega.nic.in

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.