मनरेगा में अमृत सरोवर योजना क्या है । What is Amrit Sarovar Scheme in MNREGA

दोस्तों आज हम आपको मनरेगा में अमृत सरोवर योजना क्या है, इस बारे मे जानकारी देंगे। अमृत सरोवर योजना में मनरेगा में क्या लाभ होगा। अमृत सरोवर योजना की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

बरसाती पानी के संरक्षण और भू-जल स्तर बढ़ाने के लिए अब अमृत सरोवर योजना पर काम शुरू हुआ है। योजना है कि हर जिले में ऐसे 75 तालाब बनाए जाएंगे। इसके निर्माण और रखरखाव का खर्च महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कानून और ग्रामीण विकास की दूसरी योजनाओं की मदद से पूरा किया जाना है।

अमृत सरोवर योजना क्या है। What is Amrit Sarovar Yojana

हमारे देश की भौगोलिक संरचना बहुत कठिन है, भारत में सामान्य वर्षा होती है, कभी 120 सेमी से अधिक और कभी 50 सेमी से कम। इसलिए देश के कुछ हिस्से जल संकट और सिंचाई संकट का सामना कर रहे हैं। कम वर्षा वाले क्षेत्रों में बुंदेलखंड, पश्चिमी राजस्थान, दक्कन का पठार और पश्चिमी घाट का पूर्वी भाग शामिल हैं।

यह क्षेत्र लगभग पूरे वर्ष सूखे से ग्रस्त रहता है। इसलिए इन जगहों पर कम बारिश के कारण पानी की गंभीर समस्या है। यही कारण है कि इन क्षेत्रों में बहुत अधिक सामाजिक और आर्थिक तनाव है, इसलिए इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए हमारे प्रधान मंत्री ने अमृत सरोवर योजना 2022 शुरू की है। 75 तालाबों का निर्माण किया जाएगा।

अमृत सरोवर योजना के तहत हर जिले में ऐसे 75 तालाब बनाए जाएंगे। इसके निर्माण और रखरखाव का खर्च महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कानून (मनरेगा) की मदद से पूरा किया जाता है।

अमृत सरोवर योजना का उद्देश्य। Amrit Sarovar Yojana Ka Objective

अमृत सरोवर योजना का उद्देश्य तालाबों को पुनर्जीवित करना, उन्हें पर्यटन के लिए आकर्षक बनाना, उनका सौंदर्यीकरण करना, तालाब के चारों ओर रोशनी करना, तालाब के चारों ओर पेड़ लगाना और स्वच्छता बनाए रखना और लोगों को तालाबों के महत्व के बारे में जागरूक करना है।
देश में भूमिगत जल का स्तर काफी गिरता जा रहा है ऐसे में हमें सिंचाई के लिए, पीने के लिए एवं उद्योगों के लिए पानी का संकट पैदा हो गया है। पानी के मुख्य स्रोत सूखे जा रहे हैं। वर्षा जल का संरक्षण नहीं हो पा रहा है। वर्षा जल के संरक्षण के सबसे बड़े स्रोतों में से एक तालाब अब खत्म होते जा रहे हैं इसलिए सरकार द्वारा पेयजल संकट से निपटने के लिए अमृत सरोवर योजना लाई गई है।

Read Also : मनरेगा योजना क्या है और इसका उदेश्य क्या है ?

अमृत सरोवर योजना के फायदे। Amrit Sarovar Yojana Benefits

  • अमृतसर व योजना के अंतर्गत भारत के प्रत्येक राज्य में प्रत्येक जिलों में 75-75 तालाब का निर्माण होगा I उनका जीर्णोद्धार द्वारा किया जाएगा।
  • तालाब के निर्माण होने से उस जगह पर सुंदरीकरण और पर्यटन को बढ़ावा मिल सकेगा।
  • गर्मी के समय में भूजल स्तर को बनाए रखने में सहायता मिल सकेगी।
  • इससे किसान के लिए सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी की व्यवस्था हमेशा बनी रहे पाएगी।
  • अमृतसर व योजना के अंतर्गत तालाबों में जलीय जीव व पशु पक्षियों को पानी की समस्या गर्मी की समय नहीं होगी।
  • ग्रामीण क्षेत्र में अर्थव्यवस्था मजबूत बन सकेगी।
  • मछली पालन मखाने की खेती एवं सिंचाई की व्यवस्था हेतु किसानों को बहुत अधिक लाभ प्राप्त हो सकेगा।
  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 50,000 से अधिक अमृतसर व पूरे भारत भर में बनाए जाएंगे।
  • और प्रत्येक तलाब की एरिया 1 एकड़ की केपीसीटी के अनुसार होगा जिसमें 10000 क्यूबिक मीटर पानी की क्षमता रहेगी I
  • योजना के माध्यम से अमृत सरोवर योजना के माध्यम से समझ से ग्रामीण वासियों को मनरेगा योजना के अंतर्गत रोजगार मुहैया करवाया जा सकेगा। जिससे कि बेरोजगार की समस्या भी काफी हद तक दूर होगी।

अमृत सरोवर योजना द्वारा जल संरक्षण कैसे होगा ?

अमृत सरोवर योजना के माध्यम से 15 अगस्त तक देश भर के प्रत्येक जिले में 75-75 तालाबों का निर्माण किया जाएगा।
अमृत सरोवर मिशन के तहत नए तालाब खोदे जाएंगे और पुराने तालाबों को पुनर्जीवित किया जाएगा और बड़े और गहरे तालाब बनाए जाएंगे।
इन तालाबों में पानी जमा करने के लिए नाला बनाकर पानी लाया जाएगा, जिससे इन तालाबों में बारिश का पानी भरा जाएगा।
अमृत सरोवर योजना के तहत तालाबों की सुरक्षा के लिए ग्रामीणों को जागरूक किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.