मनरेगा में कितना वेतन दिया जाता है (सभी राज्य)

दोस्तों अगर आप भी मनरेगा में काम करते हो या इसमें काम करने के लिए इछुक है तो आपको मनरेगा वेतन के बारे में जरुर पता होना चाहिए। आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताएँगे की  महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना यानी की MGNREGA Yojana में काम करने वाले लोगो को भारत के सभी राज्यों में केतना वेतन दिया जाता है, तो चलिए शुरू करते है।  

मनरेगा (MGNREGA) क्या है ?

5 सितंबर 2005 को भारत के राष्ट्रपति की सहमति से एक नई नीति अस्तित्व में आई जिसने भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका सुरक्षा प्रदान करने की दिशा में काम दिया। इसकी शुरुआत “NREGA” नाम से हुई, जो राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के लिए खड़ा था और फिर एक अतिरिक्त पत्र को “MGNREGA” महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम बनाया गया ।

मनरेगा एक रोजगार योजना है , जो उन सभी परिवारों को प्रति वर्ष कम से कम 100 दिनों के भुगतान किए गए काम की गारंटी देकर सामाजिक सुरक्षा प्रदान करती है, जिनके वयस्क सदस्य अकुशल श्रम-गहन कार्य का विकल्प चुनते हैं।

मनरेगा योजना के तहत कितना वेतन दिया जाता है ?

मनरेगा योजना के अंतर्गत भारत के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में जिन लोगों के पास जॉब कार्ड है। उन्हें एक वित्तीय वर्ष में 100 दिनों की रोजगार गारंटी प्रदान की जाती है। हालांकि, ग्रामीण मामलों के मंत्रालय ने भारत सरकार द्वारा मनरेगा श्रमिकों की दैनिक मजदूरी तय की है। लेकिन अलग-अलग राज्यों की अलग-अलग मजदूरी के कारण मनरेगा मजदूरों को यह नहीं पता कि मनरेगा की दैनिक मजदूरी दर क्या है 

मनरेगा योजना की विशेषताएं।   Features of MGNREGA

यह योजना जिले के सभी गांवों के लिए लागू की गई है 

नरेगा के अंतर्गत  हर ग्रामीण परिवार को पंजीकरण का अधिकार है 

इस योजना के तहत कार्ड द्वारको को सरकार खुद काम देती है 

1 वर्ष की कार्यावधि पूरी होने पर सभी कार्डधार को नया रोजगार कार्ड बनाया जाता है 

मनरेगा का उद्देश्य ग्रामीण विकास और रोजगार प्राप्त करना है

रजिस्टर्ड जॉब कार्ड समूह/स्थिति आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते हैं 

मनरेगा के नये कार्य की कमान के लिए कम से कम 10 नौकरी के लिए लागू होने चाहिए 

Read also : मनरेगा का पेमेंट ऑनलाइन कैसे चेक करें ?

मनरेगा में सैलरी कितनी है ? मनरेगा मजदूरी दर राज्य लिस्ट 2021

दोस्तों आप निचे बताये लिस्ट में देख सकते है की भारत के रोज्यो में मनरेगा योजना अंर्तगत कितनी मजदूरी मिलती है।

राज्य 

मिलने वाली मजदूरी

हरियाणा     

309.00 रु

असम 

213.00 रु

अरुणाचल प्रदेश

205.00 रु

आंध्र प्रदेश

 237.00 रु

गुजरात

224.00 रु

हिमाचल प्रदेश

गैर अनुसूचित क्षेत्र –198.00 रु ,अनुसूचित जनजातीय क्षेत्र – 248.00 रु

तमिल नाडू

256.00 रु

त्रिपुरा

205.00 रु

उत्तर प्रदेश

201.00 रु

गोवा

280.00 रु

राजस्थान

220.00 रु

सिक्किम

205.00 रु

उत्तराखंड

201.00 रु

पश्चिम बंगाल

204.00 रु

अंडमान

267.00 रु

निकोबार

282.00 रु

दादर और नगर हवेली

258.00 रु

केरल

291.00 रु

कर्नाटक

275.00 रु

महाराष्ट्र

238.00 रु

मध्य प्रदेश

190.00 रु

मणिपुर

238.00 रु

मेघालय

203.00 रु

मिजोरम

225.00 रु

नागालैंड

205.00 रु

जम्मू और कश्मीर

204.00 रु

झारखंड

194.00 रु

बिहार

194.00 रु

छत्तीसगढ़

190.00 रु

उड़ीसा

207.00 रु

पंजाब

263.00 रु

दमन और दिउ

227.00 रु

लक्षद्वीप

266.00 रु

पुडुचेरी

256.00 रु

तेलंगाना

237.00 रु

Read also : मनरेगा में अपनी हाजिरी कैसे चेक करें ?

FAQs, MGNREGA Job Card 2021

Q. 1-MGNREGA job card से जुड़ा हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

A- हेल्पलाइन नंबर – 1800111555

Q. 2- मनरेगा योजना का उद्देश्य क्या है ?

A-नरेगा योजना का उद्देश्य देश के सभी गरीब लोगो को रोजगार देना है, जिससे की वे अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सके। नरेगा जॉब कार्ड के जो लाभार्थी परिवार है उनके कार्य की पूरी जानकारी जॉब कार्ड लिस्ट में होती है।

Q. 3- NREGA Yojana कब शुरू हुई थी ?

A-मनरेगा योजना की शुरुआत 2005 से हुयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.